Advertisement

22 Bewafa Shayari Images – Shayari Image

Download 22 Bewafa Shayari Images in a Single click Below:

Bewafa Shayari - Shayari Images

 

अजीब तमाशा हैं मिट्टी के बने लोगों का….. बेवफाई करो तो रोते हैं,वफ़ा करो तो रुलाते हैं….!!

अजीब तमाशा हैं मिट्टी के बने लोगों का…..
बेवफाई करो तो रोते हैं,वफ़ा करो तो रुलाते हैं….!!

اجیب تماشے بن گئے لوگوں کا… ..
بیففاء تو کیا روتے ہیں ، وفاء کیا ہے…. !!

कूच उस्की तराह से बेवफा हो गई है मेरी आंख के आंसू ख्याल भर से हई उस्के साथ चोद देत हे वो मुरवत हेकूच उस्की तराह से बेवफा

हो गई है मेरी आंख के आंसू

ख्याल भर से हई उस्के साथ

चोद देत हे वो मुरवत हे

 

मौजूद थी अभी उदासी रात की, बहला ही था दिल ज़रा सा के फ़िर भोर आ गयी|

मौजूद थी अभी उदासी रात की,
बहला ही था दिल ज़रा सा के फ़िर भोर आ गयी|

 

यकीन नहीं होता फिर भी कर ही लेता हूँ… जहाँ इतने हुए एक और फरेब हो जाने दो

यकीन नहीं होता फिर भी कर ही लेता हूँ…
जहाँ इतने हुए एक और फरेब हो जाने दो

 

यू तो अल्फाज नही हैं आज मेरे पास मेहफिल में सुनाने को, खैर कोई बात नही, जख्मों को ही कुरेद देता हूँ।

यू तो अल्फाज नही हैं आज मेरे पास मेहफिल में सुनाने को,
खैर कोई बात नही, जख्मों को ही कुरेद देता हूँ।

 

Bewafa Shayari यूँ तो कोई शिकायत नहीं मुझे मेरे आज से, मगर कभी-कभी बीता हुआ कल बहुत याद आता है…

यूँ तो कोई शिकायत नहीं मुझे मेरे आज से,
मगर कभी-कभी बीता हुआ कल बहुत याद आता है…

 

Bewafa Shayari यू तो खुश है, जमाना मेरी शोहरत से.. मगर कुछ लोग हैं, जिनका दम निकलता हैं|

यू तो खुश है, जमाना मेरी शोहरत से..
मगर कुछ लोग हैं, जिनका दम निकलता हैं|

 

Bewafa Shayari यूँ तो शिकायते आप से सैंकड़ों हैं मगर.. आप एक मुस्कान ही काफी है मनाने के लिये।

यूँ तो शिकायते आप से सैंकड़ों हैं मगर..
आप एक मुस्कान ही काफी है मनाने के लिये।

 

Bewafa Shayari यूँ बिगड़ी बहकी बातों का कोई शौक़ नही है मुझको, वोपुरानी शराब के जैसी है,असर सर से उतरता ही नही..

यूँ बिगड़ी बहकी बातों का कोई शौक़ नही है मुझको,
वोपुरानी शराब के जैसी है,असर सर से उतरता ही नही..

 

Bewafa Shayari ये जो छोटे होते है ना दुकानों पर होटलों पर और वर्कशॉप पर दरअसल ये बच्चे अपने घर के बड़े होते है

ये जो छोटे होते है ना दुकानों पर होटलों पर और वर्कशॉप पर
दरअसल ये बच्चे अपने घर के बड़े होते है

 

Bewafa Shayari ये जो हालात हैं एक रोज सुधर जायेंगे.. पर कई लोग मेरे दिल से उतर जायेंगे..

ये जो हालात हैं एक रोज सुधर जायेंगे..
पर कई लोग मेरे दिल से उतर जायेंगे..

 

Bewafa Shayari ग़ैर से थोड़ी सी इक दिन बेवफ़ाई कर के देख कितना सच्चा प्यार है मेरा ट्राइ कर के देख

ग़ैर से थोड़ी सी इक दिन बेवफ़ाई कर के देख
कितना सच्चा प्यार है मेरा ट्राइ कर के देख

 

Bewafa Shayari जिसकी मोहब्बत में मरने के लिए तैयार थे हम आज उसी की बेवफाई ने हमें जीना सीखा दिया

जिसकी मोहब्बत में
मरने के लिए तैयार थे हम
आज उसी की बेवफाई ने
हमें जीना सीखा दिया

 

Bewafa Shayari मैं नहीं जानती बेवफाई किसे कहते हैं.. बस इतना पता है की जब दिल भर जाता है तो छोड़ जाते है लोग

मैं नहीं जानती बेवफाई किसे कहते हैं..
बस इतना पता है की जब दिल भर जाता है तो छोड़ जाते है लोग

 

Bewafa Shayari कोई पढ़ न ले उस बेवफा की यादों को इसलिए पानी में भी आग लगा कर आया हूँ

कोई पढ़ न ले उस बेवफा की यादों को
इसलिए पानी में भी आग लगा कर आया हूँ

 

Bewafa Shayari बेवफाई उसकी मिटा के आया हूँ ख़त उसके पानी में बहा के आया हूँ

बेवफाई उसकी मिटा के आया हूँ
ख़त उसके पानी में बहा के आया हूँ

 

Bewafa Shayari कभी सूरज ने की होगी चांद से मोहब्बत तभी तो चांद में दाग है और बदले में चांद ने की होगी बेवफाई तभी तो सूरज में आग है

कभी सूरज ने की होगी चांद से मोहब्बत तभी तो चांद में दाग है
और बदले में चांद ने की होगी बेवफाई तभी तो सूरज में आग है

 

Bewafa Shayari किस्से तो तेरे सरेआम मशहूर थे यहा बेवफाई के. पर दिल ये नादान किसी पे नही तुझ पे मरता है

किस्से तो तेरे सरेआम मशहूर थे यहा बेवफाई के.
पर दिल ये नादान किसी पे नही तुझ पे मरता है

 

Bewafa Shayari जाते जाते उसने पलटकर इतना ही कहा मुझसे मेरी बेवफाई से ही मर जाओगे या मार के जाऊँ

जाते जाते उसने पलटकर इतना ही कहा मुझसे
मेरी बेवफाई से ही मर जाओगे या मार के जाऊँ

 

Bewafa Shayari जिंदगी में बस वो एक बार मेरा हो जाता, तो मैं सारी दुनिया की किताबों से बेवफाई का लफ्ज मिटा देता

जिंदगी में बस वो एक बार मेरा हो जाता,
तो मैं सारी दुनिया की किताबों से बेवफाई का लफ्ज मिटा देता

 

Bewafa Shayari बड़ी कमजोर मोहब्बत थी मेरी शायद ..जो बेवफाई पर नही बल्कि …मेरे तुमसे बस वक़्त मांगने पर खत्म हो गयी…!!

बड़ी कमजोर मोहब्बत थी
मेरी शायद ..जो बेवफाई पर
नही बल्कि …मेरे तुमसे बस
वक़्त मांगने पर खत्म हो गयी…!!

 

Bewafa Shayari ये ही एक फर्क है तेरे और मेरे शहर की बारिश में तेरे यहाँ ‘जाम’ लगता है, मेरे यहाँ ‘जाम’ लगते हैं..!!

ये ही एक फर्क है तेरे और मेरे शहर की बारिश में
तेरे यहाँ ‘जाम’ लगता है, मेरे यहाँ ‘जाम’ लगते हैं..!!

Download 22 Bewafa Shayari Images in a Single click Below:

 

Advertisement